भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

'हाई टी' और 'डिनर' के बाद / शाहिद अख़्तर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कभी देखा है तुमने
देश की तकदीर लिखने वालों ने
क्‍या क्‍या ना बनाया है हमारे लिए

आग उगलती, जान निगलती
हज़ारों मील दूर मार करने वाली मिसाइलें हैं
हम एटमी ताकत हैं अब
किसकी मजाल जो हमें डराए धमकाए

अंतरिक्ष पर जगमगा रहे हैं
हमारे दर्जनों उपग्रह
चांद पर क़दम रखने की
हम कर रहे हैं तैयारियाँ
और दुनिया मान रही है हमारा लोहा

हम उभरती ताकत है
अमेरिका भी कह रहा है यह बात
हाँ, यह बात दीगर है
कि भूख और प्‍यास के मामले में
हम थोड़ा पीछे चल रहे हैं

लेकिन परेशान ना हों
'हाई टी' और 'डिनर' के बाद
नीति-निर्माताओं की
इस पर भी पड़ेगी निगाह