भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अंगराग / दिनेश कुमार शुक्ल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वो हवा है
उसे तुमसे क्या मिलेगा

बस ज़रा-सा अंगराग

राग का यह अंग कब किसने सुना है

धूल का यह राग
धूल की यह देह