भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

इस बार ......... / सुशीला पुरी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज



इस बार
जब आयेगा वसंत
तो बस
तुम्हारे लिए
वसंत की हवा
वसंत की धूप
वसंत की नमी
वसंत की चाँदनी
सब कुछ होगी
तुम पर न्योछावर
जितने भी फूल
खिलेंगे इस बार
सबके सब
तुम गूँथ देना मेरी चोटी मे
उन फूलों की पूरी सुगंध
करेगी यात्रा
बस
तुम्हारे सांसों की ।