भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कविता / ईहातीत क्षण / मृदुल कीर्ति

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वचन और अंकन की सीमा ,
जहों समाप्त होती है.
कविता वाहून से आरम्भ होती है,
अभी हम एक दूसरे को,
पारदर्शी नहीं,
अतः शब्द चाहिए ,
वरना शब्दों की क्या ,
विसात होती है.