भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

का भऔ बात बतातई नईंयाँ / महेश कटारे सुगम

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

का भऔ बात बतातई नईंयाँ
कोउ हमें समझातई नईंयाँ

कैसी आग लगी दुनियाँ में
बढ़ रई और, निजातई नईंयाँ

बातें बड़ी-बड़ी हो रईं तीं
का भऔ कितऊँ दिखातई नईंयाँ

रोज उपद्रे वारी बातें
का सुख-चैन सुहातई नईंयाँ

मारकाट हड़तालें दंगा
इनसें कभऊँ अघातई नईंयाँ

का कानून-कायदा कैसौ
इनखौं सुगम दिखातई नईंयाँ