भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कोलाहल / पूनम मनु

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बंद दरवाज़ो
के पीछे की आहटें
गिनने की कोशिश
जब भी की
एक निराशा ही मिली
न जाने इन बंद
दरवाज़ों के पीछे
सन्नाटों भरा
ये कैसा
कोलाहल है!