भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कौन फूल फूले अजहिन सजहिन / बुन्देली

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

कौन फूल फूले अजहिन सजहिन
कौन फूल आधी रात या गुइयाँ
बेला फूल फूले अजहिन सजहिन
उमर फूले आधी रात गुइयाँ
वहाँ फूले खोसे कहरा वेट उना भरत है
राजा घर पानी या गुइयाँ
राजवा की बेटी अंचल चंचल
कहरा का देख लुभाय या गुइयाँ
कहरा वेट उना पैया तोरे लागू
हमहू चलब तुम्हरे साथ या गुइयाँ
तुम्हरे तो रनिया थाली या लोटा
हमरे थलिया नहीम आय या गुइयाँ...