भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

घंटा / असंगघोष

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

तेरा
भगवान बहरा है
जो तूने
सीढ़ियों के
शुरुआत में ही
छोटा-बड़ा
कहीं नौ मन का
घंटा लगा रखा है
या
फिर तुम चाहते हो
कि लोग
पहली सीढ़ी पर
आते ही इसे बजा दें
ताकि तुम
अपने आमोद-प्रमोद से
मुक्त होकर
ध्यान रत हो जाओ,
कोई ना देख पाए
तुम्हारे कृत्य,
बताओ
तुम्हारे
इस घंटे के पीछे
पॉलिटिक्स क्या है?