भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

जड़ें / चन्द्र प्रकाश श्रीवास्तव

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हवाएँ तेज़ चलेंगी
बेशक तेज़ बहुत तेज़
तुम्हे उड़ा ले जाने को आमादा

पर तुम अपनी जड़ों को
मिट्टी में ज़ोर से दबाए रखना
तुमसे ही जुड़ी हैं कई शाखाएँ
शाखाओं में लगे हैं
अनगिनत पत्ते
फल और फूल