भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

जाडोको रात / अविनाश श्रेष्ठ

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

निद्रा
पकेटमा
हात
घुसारेर
पर
उभिएको

चुपचाप ।
फुटपाथमा
कठयाङ्ग्रिँदै
कामिरहेको
नाङ्गो
देहमा
ब्युँझिरहेको

एक्लो
उदास
जाडोको
रात ।