भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

जो लौट नहीं सकते थे / निशांत

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

लड़ाई तो सबकी थी
लेकिन जंग में / कुछ एक ही कूदे
उन्हें भरोसा था कि
वे लौटेंगे उनके पीछे एक दिन
लेकिन ये क्या?
वे तो उन्हें ही / चिढ़ाने लगे
मूर्ख और गँवार बताने लगे
सच्चाई तोड़कर जो कूदे थे
उनमें से भी कुछ / वापिस जाने लगे
और जो लौट नहीं सकते थे
वे पछताने लगे।