भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

तोतई बादामी लाल सबुजी सुरंग रंग / महेन्द्र मिश्र

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

तोतई बादामी लाल सबुजी सुरंग रंग,
सुन्दर गुलाबी सारी जड़कसी किनारी है।
नुपुर पाँवजेब छारा करधनी कमाल करे,
तिलरी गजमुक्ता हार गले में सुधारी है।
चम्पा कली जुगनू जवाहिर जरे जगमगात,
काम कली खिली जात अँचरा उघारी है।
द्विज महेन्द्र ईश्वर बचावे अस नारी से,
संजन के गंजन हेत जग में अवतारी है।