भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

नगर / सुभाष काक

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

नगर एक कारागार है।
जो धरती पर राज करे
पहले एक माली बने।

मुझे अब याद नहीं
कि मैंने यह पौधे बोए।

पुस्तक जेब में एक उद्यान है।
प्रकृति में प्रत्येक वस्तु
एक जाल में बँधी है।

फूल भी अतिथि से
मिलने को आतुर हैं।