भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

नींद न आने की स्थिति में लिखी कविता: तीन / शरद कोकास

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

 
नींद न आने की स्थिति में
तारे गिनने का उपदेश देने वाले
खुद कभी तारे नहीं गिनते
 
उनके और तारों के बीच
हमेशा एक छत होती है
हमारी मिहनत से बनाई हुई।