भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पत्र / सुरजीत पातर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुखपृष्ठ  » रचनाकारों की सूची  » रचनाकार: सुरजीत पातर  » पत्र

पत्र

उसे पत्र भेजते रहों मोह से भरे
वरना गैरों की नगरी में
शाख नंगी हो जाएगी
अनुवाद: चमन लाल