भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पेड़ / ओम पुरोहित ‘कागद’

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आपने
एक अभियान में
पेड़ लगाया
दूसरे में सींचा
और
तीसरे में
काट डाला ।

ठीक है
आप मालिक थे, पेड़ के
लेकिन जबाब देना ही पड़ेगा
जिस ने पेड़ को जमाया
जो पत्ते फूटने से लेकर
पेड़ काटने तक
मौन थी
वह धरती
उस पेड़ की क्या थी ?


अनुवाद : नीरज दइया