भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

पोखरन-2 / नील कमल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बुद्ध चौबीस वर्षों बाद
फिर हँसा
पाँच ठहाकों ने फेर दीं
दुनिया की नज़रें
सारनाथ की वह सभा
पीढ़ियों बाद अपने उपदेशक से
जानना चाहती है
बोधिवृक्ष की जड़ें कहाँ हैं ?