भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

भारतीय / मुंशी रहमान खान

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आए हम सब हिंद से करन नौकरी हेत।
गिरमिट काटी कठिन से फिर सरकारी खेत।।
फिर सरकारी खेत कोई निज देश चले गए।
कोई खरीदी भूमि कोई गाँवन में बस गए।।
कहैं रहमान भाग्‍य के कारन पाय लक्ष्‍मी बहुत हर्षाये।
रहा भाग्‍य विपरीत जिन्‍हों का कहैं कि यहँ नाहक हम आए।।