भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मक्खीमार / श्याम किशोर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मक्खी
एक दरवाज़े से अन्दर आई
और दूसरे से
बाहर निकल गई ।

न उसने
इस दरवाज़े से घुसते हुए कुछ सोचा था
न उससे
बाहर निकलते हुए।

सब जानते हैं
मक्खी
दुनिया का सबसे तेज़ रफ़्तार
जानवर है
और उसे पकड़ना आसान नहीं

फिर भी
मक्खीमारों से
खाली नहीं है यह दुनिया ।