भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

माय बेटा को मेरवनऽ जलम को पाटू बाच्चा / पँवारी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

पँवारी लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

माय बेटा को मेरवनऽ जलम को पाटू बाच्चा
असी माय ऽ ओ इमानन की, नथ नथवाहे
बहिन भाई को मेरवनऽ जलम को पाठ बान्धय
असी बहिन को इमानित गरा की गरसररी वाले सरी वाहे।।