भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मिलना-पाना / साधना सिन्हा

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जो मिला
न हमें किसी से
खुश हो ले मन
औरों के पा लेने से !

दे दो वह सब
दे सको अगर
आकांक्षा, चाहत
जीवित–मृत्यु में
राहत
जूझे न वे तुमसे
बुझे न वे
दुख से
याद न करें बीता
बदली छटके
सूरज निकले सबका