भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मोरे मन बसे राम और सीता मोरे... / बुन्देली

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

मोरे मन बसे राम और सीता। मोरे...
मोर मुकुट मोरे ठाकुर जी खों सोहे,
सो कलगिन बीच राम और सीता। मोरे...
चंदन खोरे मोरे ठाकुर जी खों सोहे,
सो टिपकिन बीच राम और सीता। मोरे...
नैनन सुरमा मोरे ठाकुर जी खों ‘सोहे’,
सो माला बीच
राम और सीता। मोरे...
पानन बिरियां मोरे ठाकुर जी खों सोहे,
सो लाली बीच राम और सीता। मोरे...