भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

म्यारा डेरम / धनेश कोठारी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

म्यारा डेरम

गणेश च चांदरु नि

 

नारेण च पुजदारु नि

उरख्याळी च कुटदारु नि

 

जांदरी च पिसदारु नि

डौंर थाळी च बजौंदारु नि

 

पुंगड़ा छन बुतदारु नि

ओडु च सर्कौंदारु नि

 

गोरु छन पळ्दारु नि

मन्खि छन बचळ्दारु नि

 

बाटा छन हिट्दारु नि

डांडा छन चड़्दारु नि