भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

ये रहनुमाओं ने की हैं इनायतें कैसी / ज्ञान प्रकाश विवेक

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


ये रहनुमाओं ने की हैं इनायतें कैसी
कि दे रहे हैं फ़क़ीरों को दावतें कैसी

खिलौने छीन के बच्चों को दे दिए चाकू
मेरे अहद ने लिटाई नियामतें कैसी

जिसे मिलो वही लगता है ख़ुद से रूठा हुआ
उभर रहीं हैं सभी में अलामतें कैसी

हरेक शख़्स के कंधे पे है सलीब कोई
कि इस निज़ाम ने भेजी हैं राहतें कैसी

मकान ज्वालामुखी पर बना के बैठा है
वो ख़ुद से करने लगा है अदावतें कैसी