भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

योजनाओं का शहर-8 / संजय कुंदन

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

योजनाओं में नागरिक की परिभाषा तय कर दी गई थी
निश्चित कर दी गई थी उनकी संख्या
परिन्दों की भी गणना हो गई थी
एक बार राजकीय काफ़िले के ऊपर
मंडराने लगे ढेर सारे प्रवासी पक्षी
उनका हुलिया अलग था
योजनाओं में वर्णित चिड़ियों से
चिन्तित हुए सभासद
घबराए योजनाकार
एक चिड़ीमार को आदेश दिया गया
कि वह बाहरी पक्षियों के आगमन पर
रोक लगाने की योजना तत्काल तैयार करे।