भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

विघटन / शुभा

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

निर्दोष शरीरों​ और प्राणों के बीच धँसा है हत्यारा
हँसता रहता है

डराता है
खेलता है
मर्ज़ी से करता है हत्या

न्याय का कुटिल मंच रचते हुए
पब्लिक के बीच एक प्रस्तुति की तरह।