भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

शासन-खाई-चभच्चा रँ / आभा पूर्वे

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

शासन-खाई-चभच्चा रँ
रखियोॅ गोड़ तों अच्छा रँ

देश देखी केॅ कानी भरतै
कोय्यो साधू सच्चा रँ

मंत्री तेॅ बड़का विभाग रोॅ
बतियावै छै बच्चा रँ

जे भी पकलोॅ फोॅल तोड़ै छी
निकलै छै सब कच्चा रँ

आँख मुनी केॅ मत चल ‘आभा’
डेग-डेग पर खच्चा रँ ।