भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

सच बताना / सतीश छींपा

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बहुत अच्छा लगता है
तुम्हारे बारे में सोचना
गोया छूना ठण्डी ओस को
तुम्हारे बारे में लिखना
जैसे वेदों की ऋचाओं पर कविता
कविता फैल जाती है अनन्त में
शब्द रहते थिर
तुम्हारा विस्तार
शब्दों के पार
बहुत अच्छा लगता है
देर तक देखना
तुम्हारे चेहरे पर झूलती नथ को
जिसमें अटकी है पृथ्वी
रमता है जीवन
तुम्हारे पासंग में
सच बताओं -
तुम इतनी अच्छी क्यों हो ?