भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

सडक और एम्बुलेन्स / भूपिन / चन्द्र गुरुङ

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

साइरन बजाते हुए
एम्बुलेन्स दौड रही है
सडक पर।

अस्पताल कहाँ है?
एम्बुलेन्स को मालूम नहीं
एम्बुलेन्स को सिर्फ मालूम है
अन्दर सीट में
समय के सडक में दुर्घटित
गम्भीर रोगी सो रहा है
और उसको
जितना हो सके जल्दी अस्पताल पहुँचाना
बहुत जरुरी है।

आदमियो !
जल्दी, और जल्दी
टुटे हुए सडक को मरम्मत करो
और एम्बुलेन्स के लिए खाली कर दो
यह सडक।
इस सडक पर
साईरन बजाते हुए दौड रही है
एम्बुलेन्स।

मेरे रोगी देशको उठाये
सडक पर
एम्बुलेन्स दौड रही है।