भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए

हाल क्या है दिल का है इज़हार से रौशन होगा / शबीना अदीब

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हाल क्या है दिल का है इज़हार से रौशन होगा
यानि किरदार तो किरदार से रौशन होगा

रात दिन आप चिरागों को जलाते क्यों हैं
घर चरागों से नहीं प्यार से रौशन होगा