भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अंकों का अनुबंध / अरविन्द श्रीवास्तव

Kavita Kosh से
अनिल जनविजय (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 20:27, 17 जून 2012 का अवतरण ('{{KKGlobal}} {{KKRachna |रचनाकार=अरविन्द श्रीवास्तव |संग्रह=राजधा...' के साथ नया पन्ना बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कभी न खुलने वाले ताले की चाभी
लेकर चला जाऊँगा एक दिन

कई-कई गोपनीयताएँ
हमारे साथ ही दफ़न हो जाएँगी
कितने खाते नम्बर
पिन नम्बर
किस्म-किस्म यूजर-नेम
पासवर्ड कई
अंकों से लबालब मस्तिष्क
फूटेगा भड़ाम से
आग की लपटों में
ख़त्म होगा अंकों का अनुबंध
पंचभूत शरीर के साथ
कई लघुत्तम
महत्तम समावर्त में प्रवेश करेगा

सर्च-इंजन मेंरे चिट्ठे खोलेंगे
ब्लॉगस्पाट मेरी कविताएँ
अंतरजाल पर मैं मुस्कुराऊँगा !