भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

इस समय / निशांत

Kavita Kosh से
Sharda suman (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 19:09, 13 सितम्बर 2018 का अवतरण ('{{KKGlobal}} {{KKRachna |रचनाकार=निशांत |अनुवादक= |संग्रह= }} {{KKCatKavita}} <poe...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बाज के डैने पर सफेदी पुती है!
गौरैया अंडे देना बंद कर रही है!

हवाई जहाज में
टावर नहीं पकड़ रहा है मोबाइल का!

कंप्यूटर से एक जानवर निकलता
और ठप्पा लगाकर वापस चला जाता कंप्यूटर में
दो आँखों की बीच वाली जगह में!

पृथ्वी, तलाश रही है
थोड़ी-सी जमीन
बैठकर सुस्ताने के लिए.