भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

एक मित्र की बीमारी / हरिवंश राय बच्चन / विलियम बटलर येट्स

Kavita Kosh से
अनिल जनविजय (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 19:35, 20 अप्रैल 2019 का अवतरण ('{{KKGlobal}} {{KKRachna |रचनाकार=विलियम बटलर येट्स |अनुवादक=हरिवं...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बीमारी में, एक तराजू के पलड़े में
                             पड़ा हुआ है,
देखा मैंने उसे ध्यान से;
सारी दुनिया एक लपट में
        अगर कोयले-सी जल जाए,
तो भी कोई वजह नहीं है मन घबराए;
मैंने अब यह देख लिया वह तुल सकती है
एक अकेले आत्मवान से ।

मूल अँग्रेज़ी से हरिवंश राय बच्चन द्वारा अनूदित

लीजिए अब पढ़िए यही कविता मूल अँग्रेज़ी में
                  William Butler Yeats
                     A Friend's Illness

SICKNESS brought me this
Thought, in that scale of his:
Why should I be dismayed
Though flame had burned the whole
World, as it were a coal,
Now I have seen it weighed
Against a soul?