भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

"गुलाब खंडेलवाल" के अवतरणों में अंतर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
पंक्ति 12: पंक्ति 12:
 
* '''गज़लें'''
 
* '''गज़लें'''
 
** '''[[सौ गुलाब खिले / ग़ज़लें  ]]
 
** '''[[सौ गुलाब खिले / ग़ज़लें  ]]
** [[अंधेरी रात के परदे में झिलमिलाया किये ]]
+
 
** [[अगर समझो तो मैं ही सब कहीं हूँ]]
+
 
** [[अपने हाथों से ज़हर भी जो पिलाया होता!]]
+
** [[अब क्यों उदास आपकी सूरत भी हुई है]]
+
** [[अब हमारे वास्ते दुनिया ठहर जाए तो क्या!]]
+
** [[आँखों-आँखों में ही दोस्ती हो गयी ]]
+
** [[आज तो शीशे को पत्थर पे बिखर जाने दे]]
+
** [[आप क्यों जान को यह रोग लगा लेते हैं ]]
+
** [[आप, हम और कुछ भी नहीं!]]
+
** [[आये थे जो बड़े ही ताव के साथ]]
+
** [[उतरती आ रही हैं प्राण में परछाइयां किसकी!]]
+
** [[उनकी आँखों में प्यास देखेंगे]]
+
** [[उन्हींकी राह में मरना कहीं होता तो क्या होता! ]]
+
** [[उन्हें बाँहों में बढ़कर थाम लेंगे  ]]
+
** [[एक अनजान बिसुधपन में जो हुआ सो ठीक]]
+
** [[कभी सर झुका के चले गए, कभी मुँह फिरा के चले गये]]
+
** [[कभी हमसे खुलो जाने के पहले]]
+
** [[कहाँ पर हमको उमीदों ने लाके छोड़ दिया]]
+
** [[क्या ज़िन्दगी को दीजिये क्या-क्या न दीजिये!]]
+
** [[क्या बने हमसे भला कागज़ की तलवारों से आज!]]
+
** [[किसीकी शबनमी आँखों में झिलमिलाये हुए ]]
+
** [[कुछ उन्हें मेरा ध्यान हो भी तो!]]
+
** [[कुछ ऐसे साज को हमने बजाके छोड़ दिया ]]
+
** [[कुछ जगह उनके दिल में पा ही गयी]]
+
** [[कुछ हम भी लिख गये हैं तुम्हारी किताब में / सौ गुलाब खिले]]
+
** [[कोई साथी भी नहीं, कोई सहारा  भी नहीं ]]
+
** [[कोई हमीं से आँख चुराए तो क्या करें!]]
+
** [[कोई हमें सताए, सताता ही जाए तो]]
+
** [[खनक कुछ कम भी हो तो कम नहीं है]]
+
** [[खिली गुलाब की दुनिया तो है सभी के लिये]]
+
** [[चुप तो किसी भी बात पर रहते नहीं हैं हम]]
+
** [[चले भी आइये क्यारी में सौ गुलाब खिले ]]
+
** [[जहां है दिल ने पुकारा, वहीं जाना होगा]]
+
** [[जान उन पर लुटाके बैठ गए ]]
+
** [[ज़िन्दगी को यों ही भरमाया किये]]
+
** [[ज़िन्दगी दर्द का दाह है ]]
+
** [[जो कहते हैं, 'हमसे लड़ाई हुई है']]
+
** [[जो जीवन में दुःख की घटा बन गयी है]]
+
** [[जो पीने में ज्यादा या कम देखते हैं]]
+
** [[जो रोते हैं ऐसी ही बातों में आप]]
+
** [[झलक भी प्यार की कुछ उसमें मिल गयी होती ]]
+
** [[तुम्हारे रूप को चाहे भला कहे तो कहे]]
+
** [[तेरी तिरछी अदाओं पर जिन्हें मरना नहीं आता]]
+
** [[दम न छूटे तो चारा नहीं ]]
+
** [[दिया भी याद का इसमें जला के रक्खा है ]]
+
** [[दिल के लुट जाने का गम कुछ भी नहीं!]]
+
** [[दिल्लगी और ही है, दिल की लगी और ही है]]
+
** [[दिल उनसे प्यार के नाते तो कोई दूर न था ]]
+
** [[दिल की तड़पन देखिये, दुनिया की ठोकर देखिये ]]
+
** [[दिल को तुम्हारे वादे का ऐतबार तो रहे ]]
+
** [[दीप जलता ही रहेगा रात भर ]]
+
** [[दुनिया को अपनी बात सुनाने चले हैं हम]]
+
** [[दो घड़ी की हँसी-खुशी के लिए ]]
+
** [[नज़र अब उनसे मिलाने की बात कौन करे!]]
+
** [[नज़र नज़र से ही टकराए और कुछ मत हो]]
+
** [[नज़र से दूर भी जाने से कोई दूर न था ]]
+
** [[नहीं एक दिल की लगी छूटती है ]]
+
** [[नहीं कोई भी मरने के सिवा अब काम बाक़ी है ]]
+
** [[नहीं दुःख ये भार होता, न ये इंतज़ार होता ]]
+
** [[न होंठ तक कभी आई, न मन के द्वार गयी]]
+
** [[निराश प्राण में आशा के सुर सजाते चलो]]
+
** [[पहले तो मेरे दर्द को अपना बनाइए ]]
+
** [[प्यार की बात न कर प्यार को बस रहने दे ]]
+
** [[प्यार को हम न कोई नाम दिया चाहते हैं]]
+
** [[प्यार में यों भी जीना हुआ]]
+
  
  

05:12, 18 जुलाई 2009 का अवतरण

गुलाब खंडेलवाल
95vc1510.jpg
जन्म 21 फ़रवरी 1924
निधन
उपनाम
जन्म स्थान नवलगढ़, जिला झुझनू, राजस्थान, भारत
कुछ प्रमुख कृतियाँ
सौ गुलाब खिले, गुलाब-ग्रंथावली, देश विराना है, पंखुरियां गुलाब की [ पूरी सूची ]
विविध
--
जीवन परिचय
गुलाब खंडेलवाल / परिचय
कविता कोश पता
www.kavitakosh.org/{{{shorturl}}}