भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

प्रेमिका और नागासाकी / इराक्ली ककाबाद्ज़े / राजेश चन्द्र

Kavita Kosh से
अनिल जनविजय (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 14:26, 18 नवम्बर 2019 का अवतरण ('{{KKGlobal}} {{KKRachna |रचनाकार=इराक्ली ककाबाद्ज़े |अनुवादक=राज...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

यह मई था,
जब प्यार किया
मेरी प्रेमिका ने मुझे,

पर आज उसके जवान,
खुले वक्ष से होकर
पुष्पित हो रहा है
आड़ू का एक पेड़,

नागासाकी के क़ब्रिस्तान में...

अँग्रेज़ी से अनुवाद : राजेश चन्द्र

लीजिए, अब इसी कविता का जार्जियाई भाषा से अँग्रेज़ी अनुवाद पढ़िए
              Irakli Kakabadze

It was May, loved
By my beloved,
But now from her young,
Open chest,
A peach tree is flowering in the Nagasaki cemetery . . .

Translated from Georgian by Mary Childs