Last modified on 14 दिसम्बर 2013, at 22:18

प्रेम-6 / सुशीला पुरी

प्रेम
एक नन्ही गिलहरी है
जो बरगद की त्वचा पर
उछलती-फुदकती
बनाती रहती है
अनन्त अल्पनाएँ

और
पास जाते ही
भागकर छिप जाती है
ऊँचे अनदेखे
अनजाने कोटरों में ।