भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

भागलै अंग्रेजी सरकार / श्रीकान्त व्यास

Kavita Kosh से
Lalit Kumar (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 05:15, 3 जून 2016 का अवतरण ('{{KKGlobal}} {{KKRachna |रचनाकार=श्रीकान्त व्यास |अनुवादक= |संग्रह...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

गाँधी बाबा केॅ डरोॅ सें भागलै अंग्रेजी सरकार,
वीर बांकुरोॅ के कुर्बानी सें फिरंगी के होलै हार। गाँधी...
जालियांवाला बाग के घटना हम्में नै भूललोॅ छियै,
सपना में हम्में भाय फाँसी-फंदा पर झुललोॅ छियै,
बापू जी के यादोॅ में हर साल मनावोॅ तोॅ त्योहार। गाँधी...
हाथ में लाठी अधनंगा बन लम्बा डेग चलै बाबा,
फिरंगी सें अपमानोॅ के बदला लै केॅ रहै बाबा,
बापू जी के जनम दिवस पर पहनावोॅ तोॅ मोटका हार। गाँधी...
भारत केॅ आजाद कराय लेलोॅ गाँधी बाबा अड़लै,
वीर भगत सिंह, खुदीराम जेनां ढेरी लोगवा लड़लै,
भारत माय के दुश्मन ऊपर करोॅ तहूँ जमकर प्रहार। गाँधी...