भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मौसम पूर्वानुमान / हैरॉल्ड पिंटर

Kavita Kosh से
अनिल जनविजय (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 02:12, 8 जनवरी 2009 का अवतरण (नया पृष्ठ: {{KKGlobal}} {{KKRachna |रचनाकार=हैरॉल्ड पिंटर |संग्रह= }} <Poem> एक बादली शुरुआत से आ...)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

एक बादली शुरुआत से आएगा दिन
यह खासा सर्द होगा
लेकिन दिन बीतते-न-बीतते
सूरज निकल आएगा
और तीसरा पहर सूखा और गर्म होगा

शाम चमकेगा चाँद
और खासा चमकीला
तब, यह कहा जाना है कि
तेज़ हवा होगी
लेकिन वह आधी रात तक ख़त्म हो जाएगी
फिर कुछ नहीं होगा

यह अंतिम पूर्वानुमान है

मूल अंग्रेज़ी से अनुवाद : व्योमेश शुक्ल