Last modified on 5 अगस्त 2010, at 15:00

वसंत का मेला / अशोक लव

Abha Khetarpal (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 15:00, 5 अगस्त 2010 का अवतरण (नया पृष्ठ: {{KKRachna |रचनाकार=अशोक लव |संग्रह =लड़कियाँ छूना चाहती हैं आसमान / अशोक …)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)


उग गयी
अमलतास पर उत्साहों की पत्तियाँ
झड गयी टहनियों की उदासी
सज गए आशाओं के फूल

उतार दिए अमलतास ने
पतझड़ी वस्त्र
चल पड़ा देखने
वसंत का मेला
हरे रंग पर
पीले छपे वाले फूलों वाली कमीज़ पहने