Changes

{{KKCatKavita}}
<poem>
डरती हुई खामोशियांखामोशियाँ
पहनकर लफ्जों का मन
निर्भीक होकर दौड़ती हैं
हारे हुए हों, जरूरी नहीं होता
नहीं होता जरूरी
कि सवालों के जवाब तुरंत ही गढ़ें जाएंजाएँ कि प्रतिरोध में डाल दिए जाएं जाएँ हथियार
समय सिद्ध करेगा किसी दिन
शब्द-सामर्थ्य, शक्ति
Delete, Mover, Protect, Reupload, Uploader
2,956
edits