भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

वार्ता:अजहू न आयल तोहार छोटी ननदी (कजली) / खड़ी बोली

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

ह गीत खड़ी बोली का नहीं है ; अत: इसे हटाकरदूसरे वर्ग [ भोज्पुरी या मैथिली जो भी हो ]मे,न रखें । -रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' rdkamboj@gmail.com