भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए

अन्तोनियो जासिन्तो

Kavita Kosh से
अनिल जनविजय (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 18:27, 25 जुलाई 2019 का अवतरण ('{{KKGlobal}} {{KKParichay |चित्र= |नाम=अन्तोनियो जासिन्तो |उपनाम=António...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अन्तोनियो जासिन्तो
Photo-not-available-cam-kavitakosh.png
क्या आपके पास चित्र उपलब्ध है?
कृपया kavitakosh AT gmail DOT com पर भेजें

जन्म 28 September 1924
निधन 23 June 1991
उपनाम António Jacinto do Amaral Martins
जन्म स्थान लुआण्डा, अँगोला
कुछ प्रमुख कृतियाँ
कविताएँ (1961), दादा बारतोलोमेउ का दूसरा ज़माना (1979), टार्राफल डी सैण्टियागो में बच गया जीवन (1980) तीनों कविता-सँग्रह।
विविध
ये ओरलाण्डो तावोरा के नाम से भी जाने जाते हैं। अँगोला में बसे एक पुर्तगाली मूल के प्रवासी परिवार में जन्म। शुरू से ही सत्ताविरोधी कवि की छवि बनी, जिसके कारण पहली बार 1959 में गिरफ़्तार। फिर 1961 में इन्हें तीन साल के लिए एक यातना शिविर में ठूँस दिया गया। 1973 में अँगोला आज़ादी आन्दोलन के सक्रिय सदस्य बन गए। अँगोला की आज़ादी के बाद 1975 में अगुस्तीना नेटो की सरकार में शिक्षा व संस्कृति मन्त्री। 1977 में राष्ट्रीय सांस्कृतिक परिषद के सचिव। 1990 में 66 वर्ष की उम्र में राजनीति से संन्यास ले लिया।
जीवन परिचय
अन्तोनियो जासिन्तो / परिचय
कविता कोश पता
www.kavitakosh.org/

कुछ प्रतिनिधि रचनाएँ