भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए

"ओळावौ / मीठेश निर्मोही" के अवतरणों में अंतर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
('{{KKGlobal}} {{KKRachna |रचनाकार=मीठेश निर्मोही |अनुवादक= |संग्र...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)
 
 
पंक्ति 8: पंक्ति 8:
 
{{KKCatRajasthaniRachna}}
 
{{KKCatRajasthaniRachna}}
 
<poem>
 
<poem>
 +
थनै अंगेजण
 +
छौळां छौळ
 +
उफणूं,
 +
म्हैं।
  
 +
आपौ बिसराय
 +
म्हारै खार
 +
रळ-मिळ जावै
 +
थूं !
 +
 +
इण अमर आस रै
 +
ओळावै
 +
के निपजैला
 +
मूंघा मोती।
 
</poem>
 
</poem>

07:31, 1 अप्रैल 2018 के समय का अवतरण

थनै अंगेजण
छौळां छौळ
उफणूं,
म्हैं।

आपौ बिसराय
म्हारै खार
रळ-मिळ जावै
थूं !

इण अमर आस रै
ओळावै
के निपजैला
मूंघा मोती।