भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

राज़िक़ अंसारी / परिचय

Kavita Kosh से
द्विजेन्द्र द्विज (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 05:47, 21 जून 2018 का अवतरण ('{{KKRachnakaarParichay |रचनाकार=राज़िक़अंसारी }} <poem> आप मध्य प्रदेश...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आप मध्य प्रदेश के इंदौर शहर निवासी हैं और पिछले 25 वर्षों से शायरी कर रहे हैं । शायरी पढ़ने और मुशायरे , कवि सम्मेलन सुनने का शोक़ बचपन से ही रहा । राहत इंदौरी और नूर इंदौरी साहब की मजलिस में बैठ कर बहुत कुछ सीखने को मिला । उस्ताद नसीर अंसारी साहब की सरपरस्ती में शेर कहने की शुरुआत की । आज तक सीखने का सिलसिला जारी है । इंदौर से प्रकाशित होने वाले संध्य दैनिक " प्रभात किरण " के लिए लगातार चार साल तक हर दिन एक कालम "नावक के तीर" लिखते आ रहे हैं जिसमें रोज़ एक ताज़ा मुक्तक आज के हालात या किसी घटना पर होता है ।

पता:
राज़िक अंसारी
24/2 दौलत गंज
इंदौर ( मध्यप्रदेश )
मोबाइल नंबर+91 9827616484