भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अंगिका हायकु / प्रदीप प्रभात

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

1.
मंदराचल
धरती अनुपम
मधुसूदन।

2.
पुराण-प्राण
मंदार के महिमा
मन-भावन।

3.
मधुसूदन
मंदार रोॅ कहानी
विष अमृत।

4.
सृष्टि रोॅ धुरी
मंदार रोॅ संस्कृति-
छै कलाकृति।

5.
क्षीर-सागर
गोड़ दबाबै मैय्या-
विष्णु रोॅ शैय्या।