भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

यदि आपके मन में कविता कोश से संबंधित कोई भी प्रश्न है जिसका उत्तर नीचे नहीं दिया गया है तो कृपया kavitakosh@gmail.com पर सम्पर्क करें। ईमेल भेजने से पहले कृपया नीचे दी गई सामग्री पढ़ लें -हो सकता है आपके प्रश्न का समाधान हो जाए।


विषय सूची

योगदान से संबंधित प्रश्न

मैं कविता कोश में अपनी रचनाएँ जोड़ना चाहता हूँ -इसके लिए मैं क्या करूं?

यदि आप चाहते हैं कि आपकी रचनाओं को कविता कोश में जोड़ने पर विचार किया जाए तो इसके लिये आपको आवेदन करना होगा। आवेदन की प्रक्रिया के बारे में जानने के लिये यहाँ क्लिक करें

क्या कोश में योगदानकर्ताओं के कार्य का लेखा-जोखा रखा जाता है?

कविता कोश में यदि कोई योगदानकर्ता कोई रचना जोड़ता है तो उस रचना के पन्ने पर योगदानकर्ता का नाम नहीं लिखा जा सकता। इसका अर्थ हालांकि यह नहीं है कि कविता कोश में योगदानकर्ताओं के द्वारा किये गये कार्य का कोई लेखा-जोखा नहीं रखा जाता। कोश में योगदानकर्ता के सदस्य नाम के साथ यह पूरा रिकॉर्ड रहता है कि किसने कोश में क्या किया है। इस रिकॉर्ड को कोई भी कभी भी देख सकता है। जब योगदानकर्ता कोई बदलाव करता है तो हाल में हुए बदलाव सैक्शन में एक रिकॉर्ड बन जाता है... उदाहरण के लिये:

(फर्क) (इतिहास) . . ग़ालिब / परिचय‎; १०:४५ . . (-५०२) . . सम्यक (वार्ता | योगदान | अवरोधित करें)

इस उदाहरण रिकॉर्ड में सम्यक योगदानकर्ता का नाम है। इसी तरह का रिकॉर्ड आपके हर योगदान के लिये बनेगा। इस रिकॉर्ड में यदि आप योगदान लिंक पर क्लिक करेंगे तो आप योगदानकर्ता द्वारा अभी तक किये गये सारे योगदान देख पाएंगे।


सामान्य प्रश्न

साइट पर कुछ लिंक्स लाल रंग के क्यों दिखते हैं?

किसी लिंक के लाल रंग का होने का अर्थ है कि अभी वह पन्ना बना नहीं है। कोश में कभी-कभी ऐसा होता है कि रचनाकारों और रचनाओं के नाम जोड़ दिए जाते हैं लेकिन बाद में वह रचना या उस रचनाकार से संबंधित जानकारी उपलब्ध नहीं हो पाती। इसलिये लिंक लाल रंग का रह जाता है। जैसे ही सामग्री उपलब्ध होती है -उसे कोश में जोड़ दिया जाता है और लिंक नीले रंग का हो जाता है।

कविता कोश में अमुक रचनाकार का नाम क्यों नहीं है?

कविता कोश की रचनाकारों की सूची निरन्तर बढ़ती रहती है। यदि कोई रचनाकार अभी सू्ची में नहीं है तो उनका नाम आगे कभी भी कोश में नहीं जुड़ेगा -ऐसा बिल्कुल नहीं है। रचनाकारों के नाम कोश में धीरे-धीरे जुड़ रहे हैं। किन रचनाकारों के नाम कोश में जोड़ने हैं और कब जोड़ने हैं इसका निर्णय कविता कोश टीम करती है। कई बार किसी रचनाकार की रचनाओं की अनुपलब्धता भी नाम के ना जुड़े होने का कारण बनती है (हालांकि यह भी ज़रूरी नहीं कि रचनाओं के उपलब्ध होने पर रचनाकार का नाम कोश में जोड़ ही दिया जाएगा)। यदि आपके विचार से किसी रचनाकार का नाम कोश में होना चाहिये तो आप उनका नाम टीम को सुझा सकते हैं। नाम सुझाते समय रचनाकार का परिचय और उनकी कम-से-कम 10 रचनाएँ kavitakosh@gmail.com पर भेज दें। कविता कोश टीम का निर्णय इस बाबत अंतिम होगा।

कविता कोश के बारे में

क्या कविता कोश में केवल प्रतिष्ठित रचनाकारो की रचनाओं का ही संकलन किया जाता है?

ऐसा नहीं है। कविता कोश के द्वार हर अच्छी काव्य रचना के लिये खुले हैं। हालांकि किन रचनकारों की रचनाओं का संग्रह इस कोश में किया जाएगा, यह तय करने का पूरा अधिकार केवल कविता कोश टीम को है। जो रचनाकार इस बाबत आवेदन करना चाहते हैं; वे कृपया आवेदन की प्रक्रिया के बारे में पढ़ने के बाद इसके अनुसार ही आवेदन करें।

क्या कविता कोश रचनाएँ प्रकाशित करता है?

नहीं। कविता कोश हिन्दी काव्य का एक विशाल कोश है और इसमें रचनाकार की रचनाओं का संकलन किया जाता है।

क्या कविता कोश एक ई-पत्रिका है?

कविता कोश ई-पत्रिका नहीं है। यह एक कोश है जिसके स्वामी और वर्धक हम सभी हैं -आप भी! कविता कोश आपका सहयोग चाहता है -हम सब के सहयोग से ही यह खजाना बढेगा। आप कवियों की सूची में दिये गये कवियों की अधिक से अधिक रचनाओं का यूनिकरण करने में अपना योगदान दें। देखें: कविता कोश में योगदान कैसे करें

कविता कोश में वर्तनी (Spelling) की त्रुटियाँ हैं। ऐसा क्यों?

कविता कोश के पन्नों को कोई भी बदल सकता है और नये पन्ने भी बना सकता है। सभी लोग वर्तनी की शुद्धता पर एक सा ध्यान नहीं देते और इसी कारण कोश में उपलब्ध सामग्री में त्रुटियाँ होने के आसार बढ जाते हैं। लेकिन कविता कोश में उपलब्ध सामग्री की गुणवत्ता में लगातार सुधार होता रहता है। आपसे निवेदन है कि यदि आप कोई त्रुटि देखें तो उसे तुरंत दूर कर दें। ऐसा करने के लिये उस पन्ने के ऊपर दिये गये बदलें लिंक का प्रयोग करें।

क्या कविता कोश में रचनाएँ जोड़ने से कॉपीराइट का उलंघन नहीं होता?

इसके बारे में यहाँ पढ़े

क्या कविता कोश से किसी का कोई आर्थिक हित जुड़ा है?

कविता कोश के साथ किसी का भी कोई भी आर्थिक हित नहीं जुडा है। कविता कोश किसी को कोई आर्थिक लाभ नहीं पहुंचाता। बल्कि इसके उलट कविता कोश टीम के सदस्य इस कोश को स्थापित रखने के लिये अपनी ओर से धन खर्च करते हैं। कविता कोश के स्वप्न को साकार करने के लिये विश्वभर के हिन्दी-प्रेमी स्वेच्छा से कोश में योगदान कर रहे हैं।