भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

अचल कवि (अच्युतानंद)

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अचल कवि (अच्युतानंद)
Photo-not-available-cam-kavitakosh.png
क्या आपके पास चित्र उपलब्ध है?
कृपया kavitakosh AT gmail DOT com पर भेजें

जन्म अठारहवीं शताब्दी
निधन
उपनाम
जन्म स्थान बिहार, भारत
कुछ प्रमुख कृतियाँ
विविध
कृष्णकवि के पुत्र और कवि लक्ष्मीनाथ परमहंस के परमप्रिय शिष्य । 107 वर्ष की आयु तक जीवित रहे। मिथिला-नरेश लक्ष्मीश्वर सिंह के दरबारी कवि थे। रायबहादुर लक्ष्मीनारायण सिंह (पंचगछिया)के प्रथम गुरू माने जाते हैं। मृदंगाचार्य और योगी के रूप में भी बड़ी ख्याति थी।
जीवन परिचय
अचल कवि (अच्युतानंद) / परिचय
कविता कोश पता
www.kavitakosh.org/{{{shorturl}}}

प्रतिनिधि रचनाएँ