भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

अजी, सरकार जी! / रमेश तैलंग

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अजी, सरकार जी!
अजी, सरकार जी!
हमें भी तो दो
वोट का अधिकार जी।

बच्चे हैं हम, ये न
कहकर बहलाओ।
हममें से भी कोई
मंत्री बनवाओ।
टालो न ऐसे ही
हर बार जी।
अजी, सरकार जी!
अजी, सरकार जी!

मंत्री बन, इनकम
और बढ़ा देंगे।
डाँटा-डपटी पर हम
टैक्स लगा देंगे।
कर देंगे हर दिन को
इतवार जी।
अजी, सरकार जी!
अजी, सरकार जी!