भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अड़वो / विनोद स्वामी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कुण कैवै
अड़वो डरावै
अड़वै री बांह में
ईंडा दिया एक चिड़ी
म्हींनो होग्यो
अजे हाथ कोनी हलायो अड़वै!