भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अनजान हैं जो, मारे जाएँगे / नील कमल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आदमी क्या है
अदद इतिहास का टुकड़ा ।

तुमसे मिलाते हुए हाथ
हम करते हैं बात
तुम्हारे इतिहास से भी,

कि जब करवट बदलते हो
समय के बिस्तर पर
तो इतिहास भी बदलता है करवट ।

यह कैसा मंज़र है
कि सभ्यता की सड़कों पर
रौंदे जा रहे हैं इतिहास
इतिहासों की टाप के नीचे,

कहता हूँ
सुनना ध्यान से
इतिहास जब भी होते हैं
आमने सामने-मैदान में,

तय है :

अनजान हैं जो लोग
मारे जाएँगे ।